सेस कर बनाना चाहता था गं'दी फिल्म, नहीं मानी तो 6 टुक'ड़ों में क'टर से का'टा

शहर के बहुचर्चित कविता रैना म’र्डर केस की सुनवाई में गवाह ने आरोपी को पहचानते हुए कहा कि जिस दिन कविता की ला’श मिली, उस दिन यही व्यक्ति उसकी दुकान पर सीसीटीवी के फुटेज लेने आया था। गौरतलब है कविता 24 अगस्त 2015 को लापता हुई थी और दो दिन बाद 26 अगस्त को बोरे में बंद उसकी ला’श छह टु’कड़ों में तीन इमली पुलिया के नीचे पाई गई थी।

जानिए क्या है पूरा मामला..
– शनिवार को मामले में स्पेशल जज ए.के. पालीवाल की कोर्ट में साईं कृपा इलेक्ट्रिक शॉप, मित्रबंधु नगर के संचालक मुकेश चौहान के बयान हुए।
– उसकी दुकान पर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं और दुकान के सामने कविता अपनी बेटी को लेने आती थी। उस जगह तक सीसीटीवी की रेंज है।
– एजीपी निर्मलकुमार मंडलोई ने गवाह दुकान संचालक मुकेश के बयान कराए। जिसमें उसने कोर्ट के कटघरे में खड़े आरोपी महेश बैरागी को पहचान लिया।
– उसने कहा यही शख़्स 26 अगस्त 2015 को उसकी दुकान पर आया था और 24 अगस्त के फुटेज मांगे थे।
– उसी दिन कविता का लाश उसके (कविता के मित्र बंधु नगर स्थित निवास) घर पर लाया गया था।
– बचाव पक्ष की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता चंपालाल यादव ने आरोपी का प्रति परीक्षण (क्राॅस) करते हुए कई सवाल किए। क्राॅस दोपहर 12 बजे शुरु हुई, जो शाम पांच बजे तक चला।
 

सूट देने के बहाने ले गया था घर
– घटना वाले दिन कविता आरोपी की दुकान से साड़ी से बना सूट लेने के लिए गई थी। महेश ने सूट घर पर होने की बात कहते हुए उसे नजदीक ही बने अपने घर पर लेकर गया था।
– यहां उसने कविता से रेप कर ब्लू फिल्म बनाने की कोशिश की। इस दौरान विरोध करने पर उसने महिला की लोहे की रॉड से हमला कर हत्या कर दी।

दिनभर में किए लाश के छह टुकड़े
– कविता की हत्या के बाद आरोपी ने दिन भर में लाश के छह टुकड़े किए। इसके बाद देररात टुकड़ों को दो बोरी में भरकर नाले में फेंक दिया।
– पुलिस को गुमराह करने के लिए उसने कविता की टू-व्हीलर को नवलखा इलाके में खड़ा कर दिया था।

ब्लू फिल्म के मामले में पूर्व में दर्ज हो चुका है केस
– आरोपी महेश पहले वीडियो लाइब्रेरी का काम करता था। आरोपी पर ब्लू फिल्म बनाने के मामले में पहले भी केस दर्ज हो चुका है।
– इस मामले में पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी किया था। बाद में उसने वीडियो लाइब्रेरी का काम बंद कर दिया था।

Leave a Comment