बदल सकता है सऊदी का यह कानून, जल्द लागु होने की भी उम्मीद!

सऊदी अरब में एक पुराने कानून में बदलाव किया जा सकता है जो वर्षों से चला आ रहा है. साथ ही इस कानून के जल्द लागू होने की भी उम्मीद है. नया कानून महिलाओं को आजादी को लेकर है. जिसके लागू होने के बाद से सऊदी की महिलाएं पुरुषों की सहमति के बगैर विदेश यात्रा कर सकेंगी. मौजूदा गार्जियनशिप कानून महिलाएं पुरुष संरक्षक या रिश्तेदार की सहमति के बगैर विदेश नहीं जा सकती थीं. वॉल स्ट्रीट जर्नल के मुताबिक, सऊदी अरब में 18 वर्ष से ज्यादा उम्र की महिलाओं पर यात्रा को लेकर प्रतिबंध इस साल खत्म किए जा सकते हैं.

इन प्रस्तावित बदलावों के तहत, 21 साल से कम आयु के लड़कों को भी अपनी विदेश यात्रा के लिए परिवार के पुरुषों से अनुमित लेने की जरूरत नहीं होगी. सऊदी अरब के अखबारों में भी इन नियमों में सुधारों को लेकर खबर छपी हैं. अगर रूढ़िवादी सऊदी शासन इस तरह का कदम उठाता है तो वहां कि महिलाओं की जिंदगी पर बड़ा असर पड़ेगा.

महिलाओं की आजादी पर दुनिया भर में आलोचना झेलने के बाद सऊदी शासन गार्जियनशिप को लेकर बने कानून की समीक्षा करने पर मजबूर हुआ है. इसी साल जनवरी में 18 साल की रहाफ मोहम्मद मुतलक अल-कुनून ने सुर्खियां बटोरी थीं, जब वह कथित तौर पर परिजनों की प्रताड़ना झेलने के बाद घर से भागने में कामयाब हो गई थी. बाद में उसने कनाडा में शरण ले ली थी.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Bitnami