इनके लिए वरदान साबित हुआ PM मोदी का IDEA, फॉलो कर आप बन सकते हैं करोड़पति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आईडिया को फॉलो करके एक कंपनी ने सोडे के साथ जूस मिलाकर नया ड्रिंक बनाया। उसके इस नए ड्रिंक की डिमांड इतनी बढ़ गई कि कंपनी ऑडर्स को वेटिंग में रखने को मजबूर हो गई। इस नए प्रोडक्ट के वजह से कंपनी की ग्रोथ महज एक साल में 50 फीसदी बढ़ गई। इस कंपनी का नाम फ्रेस्काा जूसेस हैं। जिसे पुरे उत्तर भारत में लॉन्च किया जा रहा है।

फ्रेस्का जूसेस के संस्थापक और एमडी अखिल गुप्ता ने बताया कि पीएम मोदी ने फलों के रस को कार्बोनेट के साथ इस्तेमाल पर जीएसटी की दर 40 फीसदी से 12 फीसदी करने के लिए कहा था। उनका मानना था कि इससे फलों की खपत बढ़ सकेगी। उनके इसी आइडिया पर काम करते हुए कंपनी ने कार्बोनेटेड फ्रूट ड्रिंक्स की नई लाइन फ्रेस्का फ्रूजो को लॉन्च किया है। मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी और पूर्वी यूपी में इसकी डिमांड इतनी ज्यादा हो गई कि ऑर्डर को पूरा करने के लिए एक महीने की वेटिंग होने लगी। पूर्वी यूपी में डिमांड की वजह से कंपनी दिल्ली और दूसरे राज्यों में इस प्रोडक्ट को लांच नहीं कर पाई है। अब कंपनी ने क्षमता विस्तार कर लिया है।

दिल्ली में 15000 दुकानों पर मिलेगा फ्रेस्का
गुप्ता ने बताया कि फ्रूजो अगले 15 दिनों के भीतर दिल्ली में 15,000 दुकानों में फ्रेस्का की मौजूद प्रोडक्ट के साथ मिलेगा। इससे पहले पूर्वी यूपी और पंजाब के क्षेत्रीय बाजार में एक सफल शुरुआत इस रेंज ने 1 लाख से अधिक इकाइयों की बिक्री का आंकड़ा दर्ज किया है। अकेले लखनऊ शहर में फ्रूजो ने 79 लाख रुपए से अधिक की कमाई की है। कंपनी ने बीते साल 75 करोड़ रुपए का कारोबार किया था। इस साल 130 करोड़ रुपए के कारोबार की उम्मीद है। गुप्ता ने बताया कि उनका परिवार बीते 100 सालों से फूड प्रोसेसिंग में है। इस वजह से वे विदेशी कंपनियों से ज्यादा बेहतर तरीके से देश के लोगों का स्वाद समझते हैं। इसी रणनीति के चलते कंपनी तेजी से ग्रोथ कर रही है। हालांकि अभी कंपनी ने दक्षिण भारत में अपने प्रोडक्ट लॉन्च नहीं किए हैं।

तीन फ्लेवर में उपलब्ध है
फ्रेस्का फ्रूजो वर्तमान में सेब के स्वाद में उपलब्ध है और जल्द ही तीन और फ्लेवर मोजिटो, जीरा और निम्बू मसाला भी बाजार में लाया जाएगा।अभी कंपनी लीची, अमरूद, आम, मिश्रित फल, और सेब व अन्य जैसे विभिन्न स्वाद में 10 पैकेज्ड फ्रूट जूस बनाती है।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.