खरीद रहे हैं नया फ्लैट तो पहले ठोक बजा कर चेक कर लें ये बातें, नहीं तो फंस जायेगा पैसा

दुनिया में शायद ही कोई व्यक्ति होगा जो खुद का एक घर नहीं चाहता होगा. घर चाहे छोटा हो या बड़ा उसमें रहने वाले लोगों के लिए स्वर्ग के समान होता है. भारत में अधिकांश आदमी अपना एक एक पैसा जमा कर खुद का आशियाना खरीदते हैं. इनमें कुछ लोगों को तो अपने मन मुताबिक और बजट के अनुसार घर मिल जाता है, लेकिन कई आदमी घर खरीद कर फंस जाते हैं या ठगी के शिकार हो जाते हैं या वो जो मकान खरीदते हैं उसमें कोई झोल होता है.

इन सब परेशानियों से बचने के लिए हम आपके लिए रियल एस्‍टेट एक्‍सपर्ट के द्वारा कुछ सलाह लेकर आये हैं. जिन्‍हें फॉलो कर आप उन मुश्किलों से बच सकते हैं. सबसे पहले यह तय कर लें कि आपको रेडी टू मूव फ्लैट चाहिए या फिर अंडर कंस्‍ट्रक्‍शन.

अंडर कंस्‍ट्रक्‍शन प्रोजेक्‍ट जीएसटी के तहत आते हैं और उस पर आपको कुछ टैक्‍स देना होगा. हालांकि, दोनों के अपने नफे और नुकसान हैं. रेडू टू मूव जहां कुछ महंगे होते हैं, वहीं अंडर कंस्‍ट्रक्शन थोड़ा सस्‍ता. हालांकि, यह निर्णय आपकी जरूरत और संसाधन की उपलब्‍धता पर निर्भर करता है.

प्रॉपर्टी या घर खरीदते समय इन बातों का जरूर रखें ध्यान:
-डेवेलपर्स के लिए अपने प्रोजेक्ट को रेगुलर्टी अथॉरिटी में रजिस्टर कराना जरुरी हो गया है.
-कार्पेट एरिया, बिल्ट अप एरिया और सुपर बिल्ट अप एरिया के अंतर को जरूर समझें.
-बिल्डर कब आपको डिलीवरी देने जा जा रहा है उसके शेड्यूल को जरूर समझ लें.
-हमेशा कंस्ट्रक्शन से जुड़े अपडेट पर नजर रखें.
-रीसेल में प्रॉपर्टी ले रहे हैं तो देख लें उससे जुड़ें प्रॉपर्टी टैक्स.
-चेक करें बिजली बिल सहित अन्य बिलों का भुगतान हुआ है कि नहीं.
-प्रॉपर्टी खरीदते समय लैंड यूज के बारे में जरूर जान लें.
-यह भी देख लें कि प्रॉपर्टी से जुड़े कौन कौन से चार्जेज आपको देने होंगे.
-प्रॉपर्टी के लोकेशन की भी काफी अहमियत है, इसलिए इस बारे में भी जांच पड़ताल कर लें.

Leave a Comment